बिहार

शादी से इन्कार पर किशोरी को गंगा में फेंका, किसानों ने बचाया

समस्तीपुर । वैशाली जिले के बिदुपुर थाने के जमींदारी घाट के निकट पीपा पुल से शुक्रवार की आधी रात एक युवती को गंगा नदी में फेंक दिया। विदुपुर थाने की पुलिस का कहना है कि घरवालों की मर्जी से शादी से इन्कार करने पर जान से मारने की नीयत से गंगा में फेंक दिया गया। किशोरी के तैरने के दौरान आवाज आने पर दियारा के किसानों ने उसे नदी से बाहर निकाल लिया। सूचना पर बिदुपुर थाने की पुलिस शनिवार की सुबह विशनपुर सैदअली दियारा पहुंची और किशोरी को संरक्षण में ले लिया। किशोरी बघरा मोहनपुर की रहनेवाली है।

इधर, किशोरी के पिता के घर पर स्थिति बिल्कुल सामान्य है। घटना से संबंधित जानकारी न मोहनपुर ओपी को है, न ही पटोरी थाने को। मोहनपुर ओपी अध्यक्ष पवन कुमार ने बताया कि उन्हें किसी प्रकार की सूचना नहीं मिली है।

इधर, किशोरी के ग्रामीणों का कहना है कि बघड़ा के एक व्यक्ति ने अपनी बच्ची की शादी मोहिउद्दीननगर इलाके में डेढ़ वर्ष पूर्व कर दी थी। मगर, किशोरी पति को छोड़कर भाग आई और अपने ननिहाल शिउरा में जाकर रहने लगी थी। इसी दौरान पटोरी थाना क्षेत्र के चकसाहो के एक युवक से उसका प्रेम-प्रसंग चलने लगा। वह उससे शादी करना चाहती थी। ग्रामीणों ने बताया कि वैशाली जिले के बिदुपुर थाना क्षेत्र में उसकी मौसी की ससुराल है। उसके स्वजन उसे किसी बहाने बहला-फुसलाकर वहां ले गए होंगे। वहीं उसकी हत्या की साजिश रची गई।

Share This Post