बिहार

पटना में प्लाज्मा डोनेट करने को आज से विशेष अभियान, 18 लोगों को मिलेगा कोरोना योद्धा सम्मान

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखकर पटना प्रमंडल में शुक्रवार से प्लाज्मा डोनेशन अभियान शुरू होगा। प्लाज्मा डोनेशन पटना एम्स में किया जा रहा है। इससे कोरोना मरीजों को काफी लाभ हो रहा है, इसीलिए प्रशासन ने कोरोना से जंग जीत चुके लोगों से प्लाज्मा डोनेट करने की अपील की है। पटना एम्स में रोज चार लोगों का प्लाज्मा डोनेट होगा।

प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने गुरुवार को प्रमंडल के पटना समेत सभी छह जिलों के डीएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बैठक की। इसमें निर्णय हुआ कि प्लाज्मा डोनेट करने वाले को कोरोना योद्धा को प्रशंसापत्र, स्मृति चिह्न के साथ थैंक यू कार्ड तथा सालभर के अंदर जरूरत पड़ने पर एक यूनिट खून दिया जाएगा।

20 डोनर अगले चार दिनों के लिए हैं उपलब्ध
आयुक्त ने बताया कि पटना प्रमंडल में शुक्रवार से प्लाज्मा डोनेशन अभियान शुरू होगा। इसके लिए सभी छह जिलों में स्पेशल प्लाज्मा डोनर कोषांग बनेगा। सभी जिलों का रोस्टर तय होगा, जिसके आधार पर डीएम प्लाज्मा डोनर को एम्स भेजेंगे। एम्स में उनके प्लाज्मा डोनेशन के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी। अगले पांच दिनों के लिए 20 ब्लड डोनर हैं। बैठक में बक्सर और नालंदा डीएम ने पांच-पांच डोनर उपलब्ध होने की बात कही है।

18 लोगों को मिलेगा कोरोना योद्धा सम्मान
राज्य में प्लाज्मा डोनेट करने वाले पहले व्यक्ति पटना के खाजपुरा निवासी दीपक कुमार समेत 18 डोनर को जिला प्रशासन कोरोना योद्धा का सम्मान देगा। दीपक ने दो बार प्लाज्मा डोनेट किया है। वहीं, अब तक 18 लोगों ने प्लाज्मा डोनेट कर संक्रमितों की जान बचाई है।  

चार हफ्ते में कर सकते हैं प्लाज्मा डोनेट
एम्स के डॉक्टरों ने बताया कि कोरोना से स्वस्थ हो चुके मरीज चार हफ्ते बाद अपना प्लाज्मा डोनेट कर सकते हैं। इससे न तो कमजोरी होती है और न ही कोई साइड इफेक्ट। अब तक मिले 18 डोनर के कारण गंभीर रूप से पीड़ित 18 लोगों की जान बचाई गई है। 

एम्स में 4 लोगों के प्लाज्मा संग्रहण की व्यवस्था
एम्स में रोजाना चार लोगों के प्लाज्मा संग्रहण की क्षमता है। डोनर की संख्या बढ़ने पर प्लाज्मा कलेक्शन की सुविधा बढ़ाई जाएगी। अधिक से अधिक लोग प्लाज्मा डोनेट कर सकें, इसके लिए जिलों में काउंसिलिंग की व्यवस्था की जा रही है। काउंसिलिंग कर लोगों को इसके लिए प्रेरित किया जाएगा। इसके अलावा प्लाज्मा डोनर को दूसरे जिले से पटना आने-जाने के लिए जिला प्रशासन विशेष वाहन मुहैया कराएगा।

Share This Post