दलसिंहसराय

विद्यापतिनगर में पुलिसकर्मी समेत छह कोरोना पॉजिटिव, सीमाएं सील

विद्यापतिनगर प्रखंड क्षेत्र में शनिवार को एक साथ आधा दर्जन नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने की पुष्टि के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया है।

समस्तीपुर । विद्यापतिनगर प्रखंड क्षेत्र में शनिवार को एक साथ आधा दर्जन नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने की पुष्टि के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया है। बताया जाता हैं कि कोरोना के संदिग्धों का ब्लड सैंपल क्वारंटाइन सेंटर से जांच के लिए भेजा गया था। इनमें से 6 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव होने की पुष्टि की गई है। इनमें एक पुलिसकर्मी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासनिक महकमे सहित अन्य लोगों के बीच हड़कंप मच गया है। इस बाबत सीओ अजय कुमार ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय हिरामन टोल बाजिदपुर में 25 मई को दिल्ली से आए एक 18 और 19 वर्षीय युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं आदर्श मध्य विद्यालय गढ़सिसई क्वारंटाइन सेंटर में 29 मई को भर्ती 39 वर्षीय दिल्ली से आए युवक पॉजिटिव पाया गया है। दूसरी ओर उमावि कांचा क्वारंटाइन सेंटर में 31 मई को भर्ती 39 वर्षीय युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। जबकि होम क्वारंटाइन में 10 वर्षीया बच्ची परिवार के साथ दिल्ली से आई थी। जिसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव मिली है। इनके ट्रैवल ट्रैक को खंगालते हुए साथ आएं परिवार के 5 सदस्यों का भी सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। जिसमें चार पारिवारिक सदस्यों की रिपोर्ट निगेटिव पायीं गयी है। वहीं मुंबई से अपने पुत्र का इलाज करवा कर लौटे और होम क्वारंटाइन में रह रहे एक 46 वर्षीय पुलिसकर्मी भी की भी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली है। सभी को समस्तीपुर स्थित आइसोलेशन सेंटर में आइसोलेट किया गया है। बताते चलें कि इससे पहले जिले का पहला कोरोना पॉजिटिव मरीज 4 मई को बालकृष्णपुर मड़वा पंचायत में मिला था। इसके बाद एक साथ छह पॉजिटिव मामले मिलने के बाद प्रखंड में कोरोना पॉजीटिव मरीज की संख्या बढ़ कर सात हो गयी है।

8 गांव की सीमाएं की गई सील

छह नए कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि होते ही जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी करते हुए हरकत में आ गया है। अधिकारियों का दल, स्वास्थ्य विभाग की टीम व पुलिस कर्मियों द्वारा कंटेंनमेंट एरिया की सीमाएं सील कर दिया है। माइकिग के जरिए लोगों से प्रशासनिक अधिकारी अपने अपने घरों में ही रहने की अपील कर रहे हैं। लोगों की आवश्यकता के मद्देनजर कई प्रकार की सामग्री प्रशासनिक स्तर से पहुंचाए जाने की बात कहीं जा रही है। इसके अलावा कई प्रकार के दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। एसडीओ ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि पूरी एरिया में पर्याप्त मात्रा में पुलिस पदाधिकारियों की तैनाती की गई है।

लोगों ने किया खुद को होम क्वारांटाइन

प्रखंड में एक साथ छह कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने की घोषणा और सोशल मीडिया के जरिए सूचना मिलते ही पूरे इलाके सहित आसपास के लोगों के बीच हडकंप मच गया। चंद लम्हे पहले तक लॉकडाऊन व प्रशासनिक निर्देशों को धत्ता बता कर बेवजह सड़कों पर घूमने वाले लोग भी खौफजदा हो गए। पूरे इलाके में कोरोना महामारी से बचने के लिए लोगों ने खुद को होम क्वारांटाइन कर लिया। कल तक गांव-गलियारे में उभरता शोर एकबारगी थम सा गया है। एक दूसरे से संपर्क साधने का माध्यम सिर्फ लोगों के पास मोबाइल ही बचा है। मोबाइल के जरिए ही लोगों एक दूसरे को होम क्वारंटाइन करने की सलाह देते रहे। हालांकि लोगों को अभी भी विश्वास है कि संगठित प्रयास से ही कोरोना के खिलाफ जंग जीतने में कामयाबी मिलेगी।

Share This Post