समस्तीपुर Town

संक्रमित वस्तु या व्यक्ति के संपर्क में आने के बाद सैनिटाइजर जरूरी

समस्तीपुर । कोरोना वायरस से बचने का एकमात्र उपाय है- सफाई। खुद के साथ अपने आसपास की। दरअसल, रोग से लड़ने का कोई निश्चित हथियार नहीं, इसलिए बचाव ही आखिरी विकल्प है। वायरस के साथ जंग में सैनिटाइजर एक ढाल के रूप में इस्तेमाल हो रहा। घर, ऑफिस, ट्रैवलिग, बैंकिग के दौरान हाथों में लगाया जा रहा। पर, यह जान लेना जरूरी है कि यह कितना असरकारी और कितनी देर तक दुश्मन से हमें बचाए रख सकता। डॉ. सतीश कुमार सिन्हा बताते हैं कि कोई भी सैनिटाइजर उतनी ही देर तक प्रभावी रहता है, जब तक आप किसी संक्रमित व्यक्ति या वस्तु के संपर्क में नहीं आते। इसलिए, सुरक्षा मानकों में कहा भी जा रहा कि सैनिटाइजर का उपयोग किसी वस्तु के छूने के पहले और बाद, दोनों परिस्थतियों में करना चाहिए। कैसे लगाएं सैनिटाइजर

चिकित्सक बताते हैं कि सैनिटाइज का इस्तेमाल करते समय दोनों हाथों को आपस में सटा लें। उन्हें तब तक रगड़ें, जब तक सैनिटाइजर सूख न जाए। अगर, हाथ स्पष्ट रूप से गंदे दिख रहे तो सैनिटाइजर की जगह साबुन से साफ करें। ख्याल रहे, एक साबुन एक ही आदमी के लिए हो। अगर, संभव नहीं तो लिक्विड सोप का इस्तेमाल करें। हाथ को उचित ढंग से धोया जाए तो सैनिटाइजर की जरूरत नहीं पड़ती। इनसेट

संक्रमण से होगा बचाव, खुद करें घरों को सैनिटाइज

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए शहरों को भी सैनिटाइज किया गया। लेकिन, उसकी पहुंच सभी घरों तक नहीं रही। ऐसे में घर को खुद या नगर पर्षद की सहायता से सैनिटाइज कराया जा सकता। सदर अस्पताल के हेल्थ मैनेजर विश्वजीत रामानंद बताते हैं कि घर को कोरोना वायरस से सुरक्षित रखने के लिए घरेलू या मेडिकल फिनायल और लिक्विड ब्लीच (सोडियम हाइपोक्लोराइट) बेहतर विकल्प हैं। घोल तैयार कर करें सफाई

पांच प्रतिशत सांद्रता वाले ब्लीच एक हिस्सा लेकर 98-99 हिस्सा पानी मिलाएं। आंखों पर इसका असर नहीं हो, इसलिए पांच मिनट तक छोड़ दें। इसके बाद हाथ में ग्लव्स पहनकर उसका इस्तेमाल साफ-सफाई के लिए किया जा सकता। 15 मिनट बाद दोबारा साफ कपड़े से उसकी साफ-सफाई कर दें

घर की सफाई के लिए हाइड्रोजन परऑक्साइड का इस्तेमाल भी किया जा सकता। घर में चलने-फिरने वाले कीटों को मारने के लिए फिनिट या हिट जैसे उत्पादों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। उनके लिए मेडिकल फिनाइल भी कारगर उपाय है। संक्रमण की आशंका हो तो घर का सैनिटाइजेशन जरूरी

सिटी मैनेजर राजेश झा बताते हैं कि यदि घर में कोई कोरोना वायरस का आशंकित संक्रमित आया हो तो एक चुटकी पोटैशियम परमैगनेट (लाल दवा) और दो चम्मच फॉर्मलिन या मेथेनॉल (सड़न से बचाने में इस्तेमाल होता है) को 100-100 एमएल पानी में डालकर घर का पोंछा लगा दें। इसके बाद घर की खिड़कियों और दरवाजे खोलकर बाहर निकल जाएं, ताकि इससे निकलने वाली गैस से कोई नुकसान नहीं हो। इससे पूरा कमरा सैनिटाइज हो जाएगा। ध्यान रखें कि इसका छिड़काव खाने-पीने की चीजों के आसपास न करें।

Share This Post