समस्तीपुर Town

समस्तीपुर : पूसा में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से मचा हड़कंप

प्रखंड के एक गांव से कारोना वायरस के संक्रमित मरीज के मिलने से क्षेत्र में हड़कंप है। खबर फैलते ही डॉ़ राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विवि परिसर समेत क्षेत्र में दहशत व्याप्त हो गया। सोमवार देर रात सोशल मीडिया से खबर मिलते ही लोग मोबाइल से एक-दूसरे से पूछताछ में जुट गये। वहीं प्रखंड प्रशासन ने पीडि़त परिवार के पांच लोगों को अनुमंडलीय अस्पताल स्थित आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराने के बाद कोरोना पॉजिटिव मिले व्यक्ति की ट्रैवल हिस्ट्री खंगालनी शुरू कर दी।

मिली जानकारी के अनुसार संक्रमित मरीज समस्तीपुर स्थित एक आइसोलेशन केन्द्र में ही है। इधर, पूसा स्थित उसके गांव की सीमाओं को सील कर दिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार संक्रमित व्यक्ति आठ मई को पूसा स्थित सहकारिता प्रशिक्षण केन्द्र स्थित क्वारंटीन सेंटर में रखा गया था। जहां कई लक्षण पाये जाने के बाद चिकित्सक ने अगले ही दिन समस्तीपुर रेफर कर दिया गया। जहां जांच के बाद आई रिपोर्ट ने सबको सकते में ला दिया। ग्रामीणों की मानें तो पीडि़त आठ मई से कई दिन पूर्व ही दिल्ली से गांव लौटा था। उसके बाद वह अपने कई रिश्तेदारों के घर जाकर भेंट मुलाकात की। हालांकि प्रखंड प्रशासन ने इसकी पुष्टि नहीं की है। बीडीओ राकेश रौशन ने बताया कि एहतियात के तौर पर पंचायत को सील कर दिया गया है। साथ ही सेनाटाइजेशन, मास्क वितरण आदि किये जा रहे हैं। इसके अलावा परिवार के लोगों को लाकर सैम्पल टेस्ट कराया जा रहा है। रिपोर्ट आने के बाद आगे की पहल की जायेगी। उन्होंने बताया कि मरीज के 8 मई से पूर्व गांव में आने की चर्चा गलत है।

क्या है चर्चा : पंचायत में मौजूद लोगों की मानें तो कोरोना पॉजिटिव पाया गया व्यक्ति पूसा स्थित एक सरकारी संस्थान में दैनिक वेतन भोगी कर्मी के रूप में कार्य करता था। लेकिन बीते कुछ महीनों पूर्व वह दिल्ली चला गया था। बाद में वे किसी एम्बुलेंस से मुजफ्फरपुर के पिपरी चौक (सकरा) पहुंचा। जहां से उसके पुत्र ने साइकिल से गांव लाया। बाद में वह कई दिनों तक गांव व आसपास रह रहे रिश्तेदारों से भी मिलने गया। बाद में सूचना मिलने पर प्रशासन ने उसे क्वारंटीन सेंटर में एडमिट कराया। ग्रामीणों की मानें तो संक्रमित मरीज का पूसा व कल्याणपुर प्रखंड में कई रिश्तेदार हैं। इस दौरान उनका कई रिश्तेदारों के संपर्क में आना बताया गया है। बीडीओ ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

Share This Post