रोसड़ा

रोसड़ा में तेजी से बढ़ रहा संक्रमण, नगर पंचायत बनी है उदासीन

समस्तीपुर। कोरोना संक्रमण में बढ़ोतरी के साथ-साथ रोसड़ा नगर पंचायत द्वारा इससे बचाव और सुरक्षा के उपाय पर भी ब्रेक लगता जा रहा है। एक पखवारा पूर्व से शहर में छिड़काव और सैनिटाइजिग का कार्य ठप है। वही एक माह से फागिग मशीन का धुआं भी नहीं निकल रहा है। जबकि शहरी क्षेत्र में कई क्वारंटाइन सेंटर अवस्थित हैं। जहां केवल हॉट जोन से आने वाले प्रवासियों को ही आवासित किया जा रहा है। और तो और उक्त प्रवासियों में से शहर का एक युवक कोविड-19 पॉजिटिव भी पाया गया है। संपूर्ण क्षेत्र में बढ़ते संक्रमण को लेकर भय और दहशत का माहौल है। ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार सैनिटाइजिग तथा छिड़काव के साथ-साथ जागरूकता अभियान जारी है। लेकिन शहरी क्षेत्र में ना तो छिड़काव और ना ही नगर पंचायत स्तर से कोई अभियान हीं चलाया जा रहा है। हालांकि कोरोना महामारी के शुरुआती दौर में नगर पंचायत क्षेत्र में छिड़काव और सैनिटाइजिग के साथ-साथ कुछ दिनों तक फॉगिग मशीन भी चलाया गया। लेकिन धीरे-धीरे यह सभी बंद हो गया। आश्चर्य तो यह है कि जब संक्रमण अपनी ऊंचाई को छूने लगा है और इस विपरीत समय में नगर पंचायत द्वारा सुरक्षा और बचाव की व्यवस्था को बंद करना स्पष्ट रूप से व्यवस्था पर प्रश्न के साथ-साथ उदासीनता को भी दर्शाता है। दूसरी ओर शहरवासियों द्वारा लगातार इस ओर मांग जारी है। विभिन्न वार्ड व मोहल्लों के लोग नियमित छिरकाव और सैनिटाइजिग के साथ-साथ फॉगिग मशीन चलाने पर बल दे रहे हैं। वर्तमान स्थिति में व्याप्त करोना दहशत की चर्चा करते हुए अपने अपने प्रतिनिधि के साथ पदाधिकारियों से भी प्राथमिकता के आधार पर इन कार्यों को प्रारंभ करने की अपील की जा चुकी है। बावजूद आज के दौर में सर्वाधिक महत्वपूर्ण कार्य की ओर नप प्रशासन की कोई नजर नहीं है।

वर्जन :

‘वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव व सुरक्षा के लिए संपूर्ण नगर पंचायत क्षेत्र में नियमित ब्लीचिग का छिड़काव तथा सैनिटाइजिग एवं फॉगिग कराने का निर्देश दिया जा चुका है। इस कार्य को प्राथमिकता देने को भी कहा गया है।’

श्याम बाबू सिंह

मुख्य पार्षद

नगर पंचायत रोसड़ा

Share This Post