समस्तीपुर Town

Samastipur News: प्रखंड मुख्यालयों में दो बड़े और एक छोटे यात्री वाहन की व्यवस्था

समस्तीपुर : कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते गैर प्रांतों से आनेवाले प्रवासी अब न पैदल चलेंगे, न ही भारी वाहनों में सवार होकर सफर कर सकेंगे। जिला प्रशासन द्वारा प्रत्येक प्रखंड मुख्यालयों में दो बड़े तथा एक छोटे यात्री वाहनों की व्यवस्था की गई है। प्रवासियों को सुरक्षित गंतव्य तक भेजा जाएगा। सोमवार को समाहरणालय सभाकक्ष में प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए डीएम शशांक शुभंकर ने कहा कि पंचायत स्तर पर 210 क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए हैं। प्रखंड स्तर पर ही प्रवासियों का समूह बनाया जाएगा। 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन सेंटर में आवासित किए जाएंगे। विधि व्यवस्था को लेकर मुखिया व पंचायत प्रतिनिधियों का सहयोग लिया जा रहा। डीएम ने बताया कि जिले में प्रवासियों की संख्या काफी बढ़ने की संभावना है। हर दिन लगभग 1000 की संख्या में प्रवासी आ रहे। लगभग 13 हजार प्रवासियों को क्वारंटाइन सेंटर में आवासित किया गया है। सेंटर में आवासितों के खाने- पीने की सु²ढ़ व्यवस्था है। मनोरंजन व खेल के साधन भी उपलब्ध कराए गए हैं। टीवी व प्रोजेक्टर लगाया है। पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए पीएचईडी को चापाकल लगाने के कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया है। मच्छरदानी की कमी होने के कारण झारंखड से भी इसका क्रय किया गया है। डीएम ने बताया कि पंचायत स्तर पर भी लोगों को मास्क व साबुन का वितरण किया जाएगा। ताकि, संक्रमण को फैलने से रोका जाए। मौके पर सहायक डीएम विक्रम वीरकर, सीएस डॉ. आरआर झा, मुख्यालय डीएसपी विजय सिंह मौजूद रहे।

जिले में सात लाख 63 हजार राशन कार्डधारी

डीएम ने बताया कि जिले में अब तक सात लाख 63 हजार राशन कार्ड के लाभुक हैं। इसमें से पांच लाख 63 हजार लाभुकों को राशि का भुगतान हो चुका है। आवेदन में त्रुटि के कारण दो लाख दस हजार लाभुकों का आवेदन रद हो गया। ऐसे लाभुकों के आधार व बैंक खाता का मिलान किया गया। बॉक्स में लें : नगर परिषद को नगर निगम व नगर पंचायत को नगर परिषद बनाने की तैयारी

नगर परिषद और नगर निगम निर्माण के लिए पुराने नियम में परिवर्तन किए गए हैं। पहले क्षेत्र की जनसंख्या के 75 प्रतिशत भाग गैर कृषि कार्य अगर होते थे तो उसे नगर निगम में बदला जाता था। निमय को बदलते हुए यह सीमा 50 प्रतिशत कर दी गई है। अब जिस क्षेत्र में 50 प्रतिशत लोग गैर कृषि कार्य में होंगे उन्हें जनसंख्या के आधार पर नगर निगम व नगर पंचायत में बदला जा सकता है। जिलाधिकारी ने कार्यपालक पदाधिकारी को नगर पंचायत और नगर परिषद की नक्शे और स्थिति बताने को कहा है। उन्होंने बताया कि समस्तीपुर, दलसिंहसराय, रोसड़ा, ताजपुर, पूसा, सरायरंजन, पटोरी आदि में सर्वे का कार्य शुरू कर दिया गया है।

Share This Post