जरूर पढ़ें

PM Modi LIVE Updates: पीएम मोदी के संबोधन से पहले सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुआ लॉकडाउन 4

PM Narendra Modi Speech Today: भारत में कोविड 19 के चलते लगाए गए लॉकडाउन का तीसरा चरण अपने अंतिम पड़ाव पर है, मगर कोरोना वायरस का संक्रमण देश में अब भी फैलता ही जा रहा है। 17 मई को लॉकडाउन-3 की मियाद पूरी हो रही है, ऐसे में सबकी निगाहें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आज के संबोधन पर टिकी हैं। कोरोना संकट और लॉकडाउन के एक्सटेंशन पर जारी उहापोह के बीच पीएम मोदी रात 8 बजे राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं। देश के नाम संबोधन से पहले अब आम लोगों में इस बात की चर्चा तेज हो गई है कि लॉकडाउन बढ़ेगा या फिर दफ्तर, बाजार, बस, ट्रेन और फ्लाइट्स की सेवाओं को लेकर कुछ बड़ा ऐलान होगा। तो चलिए जानते हैं पीएम मोदी के संबोधन से जुड़े सारे लाइव अपडेट्स….

-पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि पीएम मोदी के साथ बैठक में उम्मीदें थी लेकिन हम हर बार हम खाली झोली लेकर वापस लौटे हैं। पिछले 2 महीने से कोई आय नहीं है लेकिन इसका विकल्प केन्द्र से नहीं मिल पा रहा हैं।

-पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की पैरवी करते हुए कहा कि लॉकडान से बाहर निकलने के लिए सावधानीपूर्वक रणनीति बनाई जाए और राज्यों को वित्तीय सहयोग दिया जाए।  

-तमिलनाडु में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि 31 मई तक ट्रेन सेवाओं की अनुमति न दें। 

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात आठ बजे देश को संबोधित करेंगे।

हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि फिलहाल पूरी दिल्ली ही रेड जोन  में है।

-दिल्ली में कोरोना के 2512 रोगी अभी तक ठीक भी हो चुके हैं। इनमें से 383 रोगियों को सोमवार से मंगलवार के बीच अस्पताल से छुट्टी दी गई है। शहर में कुल 5041 कोरोना के एक्टिव रोगी हैं। कल ही मुख्यमंत्रियों से की थी बात

पीएम मोदी का यह संबोधन इसलिए भी खास है क्योंकि इससे एक दिन पहले यानी सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोविड-19 और लॉकडाउन के विषय पर चर्चा की थी। इस बैठक में कई राज्यों ने जहां लॉकडाउन को बढ़ाने की मांग की थी, वहीं कई ने ज्यादा से ज्यादा छूट देने की बात की थी। कुछ राज्यों ने तो लॉकडाउन को हटाने का भी आग्रह किया है। 

पीएम मोदी ने कल की बैठक में क्या कहा

राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग बैठक में पीएम मोदी ने कहा ‘भले ही हम लॉकडाउन को क्रमबद्ध ढंग से हटाने पर गौर कर रहे हैं लेकिन हमें यह लगातार याद रखना चाहिए कि जब तक हम कोई वैक्‍सीन या समाधान नहीं ढूंढ लेते हैं, तब तक वायरस से लड़ने के लिए हमारे पास सबसे बड़ा हथियार सामाजिक दूरी बनाए रखना ही है।’ प्रधानमंत्री ने ‘दो गज की दूरी’ के महत्व पर फिर से जोर दिया और कहा कि कई मुख्यमंत्रियों द्वारा रात में कर्फ्यू लगाने के लिए दिए गए सुझाव को मानने से निश्चित रूप से लोगों में सतर्कता की भावना फिर से पैदा होगी।

– लॉकडाउन का तीसरे चरण की घोषणा पीएम मोदी ने नहीं की थी। केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना में लॉकडाउन के तीसरे चरण की घोषणा हुई थी, जिसमें कहा गया था कि लॉकडाउन को 3 मई के बाद दो सप्ताह के लिए बढ़ाया जाएगा। 3 मई के बाद हालांकि, कई चीजों में काफी छूट भी दी गई।

-पिछली बार लॉकडाउन के ऐलान के वक्त पीएम मोदी ने क्या कहा था

प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले संबोधन में देशव्यापी लॉकडाउन को तीन मई तक बढ़ाने का ऐलान किया था। कोरोना वायरस लॉकडाउन के 21वें दिन सुबह 10 बजे पीएम मोदी ने कहा था कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए देश में 3 मई तक लॉकडाउन रहेगा। पीएम मोदी ने कहा था कि देश पूरी मजबूती के साथ कोरोना वायरस महामारी से लड़ रहा है। जिस तरह से देशवासियों ने त्याग और तपस्या का परिचय दिया है, वह कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अहम है। वहीं, इससे पहले प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए 24 मार्च को 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी।

25 मार्च से जारी है लॉकडाउन, अब तक तीन चरण
कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की वजह से देश अब तक तीन लॉकडाउन देख चुका है, जिसमें तीसरा चरण अभी जारी है जो 17 मार्च को समाप्त होगा। देश में 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है। पहले 21 दिनों का लॉकडाउन 14 अप्रैल तक के लिए लगा था, उसके बाद फिर 3 मई तक लॉकडाउन का दूसरा चरण लागू हुआ और अभी 17 मई तक तीसरा चरण चल रहा है। 54 दिन का लॉकडाउन 17 मई को समाप्त होने वाला है। कोरोनो वायरस को फैलने से रोकने के लिए यह लगाया गया था। 

देश में कोरोना का हाल

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 3604 नए मामले सामने आए हैं और कोविड-19 से 87 लोगों की मौत हुई है। मंगलवार को जारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर करीब 70756 हो गए हैं और कोविड-19 से अब तक 2293 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना के कुल 70756  केसों में 46008 एक्टिव केस हैं, वहीं 22455 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है या फिर वह ठीक हो चुके हैं। कोरोना वायरस से अब तक सर्वाधिक 868 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 23401 हो गई है। 

Share This Post