समस्तीपुर Town

अब समस्तीपुर सदर अस्पताल में हो रही कोरोना की जांच

समस्तीपुर । जिलेवासियों के लिए अच्छी खबर है। कोरोना वायरस के संदिग्ध के सैंपल को जांच के लिए पटना एम्स नहीं भेजना होगा। अब सदर अस्पताल में भी कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों की जांच हो रही है। जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने बुधवार को सदर अस्पताल में जांच मशीन का विधिवत उद्घाटन किया। कोविड-19 की जांच के लिए ट्रनेट मशीन सदर अस्पताल के पोस्टमार्टम भवन में लगाई गई है। डीएम ने जांच कक्ष में व्यवस्था की जानकारी ली। कहा कि प्रतिदिन यहां जांच कराई जा रही है। कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी है। इस वायरस से सभी देश परेशान है। इस वायरस को हराने के लिए मजबूती से लड़ा जा रहा है। पहले समस्तीपुर के कोरोना संदिग्ध मरीजों की सैंपल को जांच के लिए एम्स पटना भेजा जाता था। अब सदर अस्पताल में ही जांच की सारी व्यवस्था हो गई है। मौके पर सिविल सर्जन डॉ. रति रमण झा, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. जितेंद्र कुमार, संचारी रोग पदाधिकारी डॉ. श्रीराम प्रसाद, उपाधीक्षक डॉ. अमरेंद्र नारायण शाही, डीपीएम एसके दास, डीपीसी आदित्य नाथ झा, अस्पताल प्रबंधक विश्वजीत रामानंद आदि उपस्थित रहे।

सेंटर में मरीजों के सैंपल की हो रही जांच

जिले के कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच रिपोर्ट आने में कई दिन लग जाते थे। जांच रिपोर्ट आते-आते रोगियों की हालत और बिगड़ने की संभावना रहती थी। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सदर अस्पताल में कोरोना वायरस के संदिग्ध रोगियों की जांच के लिए अत्याधुनिक मशीन लगाई गई है। प्रतिदिन मरीजों के सैंपल की जांच की जा रही है। संक्रमण की पुष्टि होने पर मरीजों को आइसोलेशन सेंटर में भर्ती कर नियमित उपचार किया जा रहा है।

पॉजिटिव आने पर सैंपल भेजा जाएगा एम्स

कोविड-19 ट्रनेट जांच मशीन से कोरोना की प्रारंभिक जांच होगी। जिन लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आएगी, उन्हें पूरी तरह से ठीक माना जाएगा, लेकिन जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी। केस को कंफर्म करने के लिए फिर से सैंपल जांच के लिए एम्स पटना भेजा जा रहा है। इसके बाद ही उसे पॉजिटिव माना जाएगा। लिहाजा यह मशीन कोरोना के बढ़ते मामलों की कम समय में पुष्टि करने में कारगर साबित होगा।

Share This Post