समस्तीपुर Town

Samastipur: लाखों रुपये खर्च, वाटर एटीएम से नहीं टपका पानी

समस्तीपुर । विद्यालय के बच्चों एवं शिक्षकों को स्वच्छ पानी पीने का सपना अधर में लटक गया है। जबकि इसके नाम पर लाखों रुपए की योजना चलाकर खानापूर्ति कर ली गई है। उजियारपुर प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय वेदौलिया, हरदीश नारायण उच्च विद्यालय बेलारी सहित कई विद्यालयों में वाटर एटीएम का निर्माण कराया गया है। मालती पंचायत के उमवि वेदौलिया में सांसद निधि की 644254 रुपये से निर्माण कराया गया था। जनवरी माह में ही काम पूरा कर लिया गया। अभिकर्ता द्वारा वाटर एटीएम के दीवार पर सांसद द्वारा उद्घाटन करने का शिलापट्ट भी लगा दिया गया है। परंतु इसे चालू नहीं किया गया। अबतक मोटर चलाने के लिए बिजली का कनेक्शन भी बोरिग में नहीं दिया गया है। जिसके कारण यहां के बच्चों को स्वच्छ पानी पीने का सपना नहीं पूरा हो सका। वर्तमान में कोरोना के कारण स्कूल में छात्र नहीं आते हैं। परंतु शिक्षक एवं रसोईया विद्यालय में पहुंचकर अपनी उपस्थिति दे रहे हैं। विद्यालय की रसोईया सुशीला देवी, आशा देवी, कैलशिया देवी एवं मंजु देवी ने समस्या सुनाते कहा कि स्कूल प्रांगण में थ्री इंडिया चापाकल से गंदा पानी गिरता है। एटीएम निर्माण होने से पानी की समस्या दूर होने की आशा जगी थी। परंतु लाखों रुपए की योजना जलसंकट को दूर नहीं कर सका। रसोईया कहती है कि नलजल योजना के तहत एक कनेक्शन दिया गया है। परंतु इसमें हमेशा पानी उपलब्ध नहीं रहता है। स्कूल में पानी पीने और खना पकाने के लिए अलग से पानी लाती है। एचएम विजय कुमार ने बताया कि वाटर एटीएम के लिए बना कमरा घटिया बनाया गया है। इसके छज्जे कभी भी गिर सकते है। नल काफी उंचाई पर लगा दिया गया है। जिससे बच्चे पानी नहीं पी सकते हैं। विद्यालय के शिक्षकों एवं रसोईयों ने कहा सांसद से उनकी भेंट हो नहीं सकती। अब उनकी समस्या को कौन सुनेगा। इस प्रकार उनमें निराशा छा गई है।

Share This Post