जरूर पढ़ें

MSME के लिए घोषित आत्मनिर्भर पैकेज का फायदा व्यापारी भी ले सकेंगे, केंद्रीय मंत्री ने दी ये जानकारी

वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये व्यापार संघों के प्रतिनिधियों से बात की. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के चलते खुदरा व्यापारियों के सामने वाली वाली मुश्किलों पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि ज्यादातार दुकानों को खोल दिए जाने की अनुमति दे दी गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए मॉल्स में बची हुई दुकानों को खोलने पर भी जल्द ही फैसला लिया जाएगा.

आत्म निर्भर पैकेज में MSME को दी गई राहत का फायदा व्यापारियों को भी 
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी कोवड-19 से लड़ने के लिए केंद्रीय वित्त मंत्री की ओर से घोषित आत्म निर्भर पैकेज में MSME के लिए 3 लाख करोड़ रुपये की क्रेडिट गारंटी उपलब्ध कराई गई है. सरकार के इस ऐलान का फायदा व्यापारियों को भी मिलेगा. उन्होंने कहा कि एमएसएमई सेक्टर की परिभाषा में किए गए बदलाव से उन्हें भी इस राहत का फायदा मिलेगा. व्यापारी भी इस राहत पैकेज के तहत लोन ले सकेंगे.  

लॉकडाउन में पड़ोसी दुकानदार ही काम आया 
गोयल ने खुदरा व्यापारियों को ई-कॉमर्स कंपनियों से खतरा महसूस नहीं करने के लिए कहा. उन्होंने कहा कि इस लॉकडाउन में आम लोगों को भी यह ऐहसास हुआ है कि पड़ोस के किराना दुकानदार ही संकट की इस घड़ी में उनकी सहायता करते है. उन्होंने कहा कि सरकार खुदरा व्यापारियों के लिए बी2बी को सुगम बनाने के लिए तंत्र तथा उनकी पहुंच को विस्तारित करने के लिए तकनीकी सहायता उपलब्ध कराने पर काम कर रही है. उन्होंने कहा कि मुद्रा लोन और अन्य मुद्दों से जुड़ी व्यापारियों की समस्याओं को वित्त मंत्रालय के सामने रखा जाएगा.  

जल्द सुधरेंगे हालात 
वाणिज्य  मंत्री ने कहा कि संकेतकों से पता चलता है कि आर्थिक सुधार पटरी पर हैं. इस महीने बिजली की खपत  पिछले वर्ष की इस अवधि के लगभग बराबर है, ऑक्सीजन का उत्पादन बढ़ा है. निर्यात, जो अप्रैल में लगभग 60 प्रतिशत कम हो गया था, उसमें बढोत्तरी का संकेत मिलना आरंभ हो गया है और आरंभिक संख्याओं से संकेत मिलता है कि इस महीने की गिरावट कम होगी. दूसरी तरफ, सेवा निर्यात पिछले महीने भी बढ़ा. उन्होंने कहा कि मर्केन्डाइज निर्यात में गिरावट से अधिक, आयातों में पिछले महीने अधिक कमी प्रदर्शित हुई जिससे व्यापार घाटा कम हुआ. उन्होंने व्यापारियों से भारतीय वस्तुओं का इस्तेमाल करने और उन्हें बढ़ावा देने की अपील की. 

Share This Post