जरूर पढ़ें

IRCTC News : Unlock 1.0 के बीच 200 विशेष ट्रेनों का कंफर्म टिकट कैसे कराएं कैंसिल, यहां जानिए डिटेल प्रॉसेस

नयी दिल्ली : देश में कोरोनावायरस संकट के बीच भारतीय रेल बीते 1 जून से 200 मेल/एक्सप्रेस ट्रेन चला रही है. इन 200 ट्रेनों में कई ऐसे ट्रेन हैं, जिनका टिकट यात्रियों को नहीं मिल रहा है. वहीं कई ऐसे भी ट्रेन है, जिसमें यात्री टिकट कटाकर भी कैंसिल कर रहे हैं.

कई बार टिकट कैंसिल होने के बाद यात्रियों के टिकट के पैसे रिफंड नहीं आने की खबर आती रहती है. बताया जाता है कि यात्रियों के द्वारा टिकट कैंसिल से लापरवाही बरतने के कारण रेलवे इसका फायदा उठा लेता है. आइये जानते हैं रेलवे टिकट कैंसिल करना का सही रूल, जिससे आपके पैसे जल्द वापस हो जाये.

ईटी नाउ की रिपोर्ट के अनुसार ट्रेन के खुलने से चार घंटे पहले तक ही कैंसिल कराने पर टिकट का किराया रिफंड हो सकता है. इसके अलावा किराया रिफंड नहीं किया जायेगा. यात्रियों को चार घंटा पहले ही टीडीआर फाइल करना होगा. आइये जानते हैं टिकट कैंसिल कराने की प्रक्रिया.

फर्स्ट स्टेप– सबसे पहले आईआरसीटीसी के वेबसाइट पर जाकर यूजर्स नेम और पासवर्ड के जरिए आईडी लॉग-इन कर लीजिए. इसके बाद माय ट्रांजिक्शन पर जाकर बुक्ड माय टिकट पर क्लिक करें. इसके बाद कैंसिल का बटन दबाएं.

सेकेंड स्टेप– ज्यादा लोगों का टिकट है और एक लोगों का ही कैंसिल कराना है तो उस व्यक्ति के नाम,पर क्लिक करें. उसके बाद डिस्प्ले पर कैंसिल के ऑप्शन में जाये और फिर उस बटन को दबा दें.

थर्ड स्टेप– तीसरे स्टेप में कैंसिल हुए टिकट का पूरा निर्देश पढ़ लें. इसके अलावा, कैंसिलेशन का प्रिंट निकालकर अपने पास रख ले और फिर अपने मोबाइल में कैंसिलेशन का मेसेज चेक करें.

कैंसिलेशन चार्ज- रेलवे द्वारा टिकट कैंसिलेशन का अलग-अलग चार्ज रखा गया है. इसमें समय से लेकर बोगी के हिसाब से रुपये तय किया गया है. अगर आप 48 घंटे पहले टिकट कैंसिल करते हैं तो आपको फर्स्ट ऐसी बोगी में 240, सेकेंड एसी में 200, थर्ड बोगी में 18 और स्लीपर में 60 रुपये का चार्ज देना होगा. बाकी के रुपये रिफंड हो जायेंगे. इसके अलावा अगर आप 12 घंटे से कम समय में कैंसिल कराते हैं तो आपके टिकट चार्ज में से 50 प्रतिशत रुपये की कटौती कर ली जायेगी.

Share This Post