जरूर पढ़ें

LAC पर शांति के लिए भारत और चीन में हुई बात, बनी यह सहमति

भारत और चीन के बीच बुधवार को एक बार फिर राजनयिक स्तर की बातचीत हुई। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि इस दौरान दोनों देशों ने इस बात पर सहमति जताई कि पूर्वी लद्दाख में तनाव वाले इलाकों से सैनिकों को हटाने को लेकर पहले बनी सहमति पर अमल से सीमा पर शांति और स्थिरता बनी रहेगी। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि दोनों पक्षों ने पूर्वी लद्दाख में स्थिति सहित सीमावर्ती क्षेत्रों के घटनाक्रमों पर विस्तार से चर्चा हुई। भारतीय पक्ष ने पूर्वी लद्दाख में हुए हालिया घटनाक्रम पर अपनी चिंता से उन्हें अवगत कराया। 

चीन के साथ राजनयिक बातचीत के दौरान भारतीय पक्ष ने 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प का मुद्दा उठाया, जिसमें भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे। इसपर जोर दिया गया कि दोनों पक्ष वास्तविक नियंत्रण रेखा का पूरा-पूरा सम्मान करें। मौजूदा हालात के शांतिपूर्ण समाधान के लिए दोनों पक्षों के बीच राजनयिक और सैन्य स्तर पर संवाद बनाए रखने की सहमति बनी।

लद्दाख क्षेत्र में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर तनाव कम करने के तौर-तरीकों को लेकर बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये भारत-चीन के बीच कूटनीतिक बातचीत हुई। विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (पूर्वी एशिया) नवीन श्रीवास्तव और चीनी विदेश मंत्रालय में महानिदेशक वू जियांगहो के बीच बातचीत हुई। 

दोनों पक्षों ने जून में पहली कूटनीतिक वार्ता की। पूर्वी लद्दाख में टकराव वाले बिंदुओं से ”हटने पर चीनी और भारतीय सेनाओं के बीच बनी ”आपसी सहमति के दो दिन बाद यह बातचीत हुई है।

Share This Post