बिहार

इंश्योरेंस, प्रदूषण और ड्राइविंग लाइसेंस में छूट, फिर भी काट रहे चालान

लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण को देखते हुए परिवहन विभाग ने इंश्योरेंस, प्रदूषण और ड्राइविंग लाइसेंस नहीं होने पर चालान नहीं काटने का ऐलान किया है। इसके बाद भी राजधानी के कई चौक-चौराहों पर गाड़ियों को रोककर चालान काटा जा रहा है। 

बाइपास बस स्टैंड, करबिगहिया पुल के नीचे, आर ब्लॉक, करगिल चौक, डाक बंगला चौराहा और हड़ताली मोड़ के पास गाड़ियां रोक जबरन वसूली की जा रही है। पुलिसिया जुल्म के खिलाफ ऑटो चालक संघ 22 जुलाई को विरोध प्रदर्शन करेंगे। शनिवार को बैठक कर यह निर्णय लिया गया। 

ऑल इंडिया रोड ट्रांसपोर्ट फेडरेशन बिहार के महासचिव राजकुमार झा एवं ऑटो रिक्शा चालक संघ के अध्यक्ष पप्पू यादव ने संयुक्त बयान जारी कर कहा है कि चार महीने से लॉकडाउन की मार झेल रहे ऑटो चालकों को सरकार द्वारा किसी प्रकार की सहायता नही दी गई है। उल्टे जगह-जगह पर ऑटो चालको को निशाना बनाया जा रहा है और उनसे जबरन वसूली की जा रही है। 

तमाम कागजात रहने के बावजूद ऑटो को थाने लगवाया जा रहा है। उनसे दो से पांच हजार रुपये तक का फाइन लिया जा रहा है। जब यूनियन के लोगों ने पूछा कि कागजात रहने के बावजूद ऑटो को क्यों जब्त कर रहे हैं तो उनके साथ भी बदसलूकी की गई। स्टेशन गोलम्बर पर विरोध प्रदर्शन के साथ साथ बिहार परिवहन मंत्री का पुतला दहन किया जायेगा। 

Share This Post