समस्तीपुर Town

पिता की मौत की खबर सुन तड़पता रहा बेटा, आदेश पर दी मुखाग्नि

गांव के क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे बेटे को जब पता चला कि उसके पिता की मौत हो गई तो उसके होश उड़ गए। गांव में रहते हुए भी उसे पिता के अंतिम संस्कार के लिए सरकारी अनुमति का इंतजार करना पड़ा। घटना शनिवार की है। क्षेत्र के लदौरा गांव में शनिवार दोपहर में घास काटने के दौरान स्थानीय राम आशीष चौधरी (65) की मौत हो गई। लोगों का बताना है कि वह मवेशी के लिए घास काटने गांव के ही खेत में गया था। जहां अचानक तबियत बिगड़ने से उसकी मौत हो गई। क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे बेटे को जब इसकी सूचना मिली तो वह तड़प कर रह गया। इच्छा हुई कि भाग कर पिता के पास जाए पर क्वारंटाइन सेंटर की लक्ष्मण रेखा ने कदम रोक दिया।

स्थानीय सरपंच मनोज कुमार चौधरी व मुखिया अनामिका देवी ने बताया कि रामअशीष चौधरी के दो पुत्र हैं। सबसे बड़ा पुत्र चंदेश्वर चौधरी दिल्ली में रहकर मजदूरी करता था। कामकाज बंद हो जाने के कारण वह 10 दिन पूर्व घर आया हुआ था। फिलहाल वह क्वारंटाइन सेंटर जीतवरिया कॉलेज में रह रहा है। प्रशासनिक पहल पर पिता का अंतिम दर्शन करने को लेकर उसे जितवरिया कॉलेज स्थित क्वारंटाइन सेंटर से घर लाया गया। उसकी क्वारंटाइन अवधि पूरी होने पर अभी 4 दिन और शेष है।

सीओ के आदेश मिलने के बाद क्वारंटाइन सेंटर के प्रभारी अरुण कुमार झा ने उसे पिता को मुखाग्नि देने के लिए कुछ देर के लिए छोड़ दिया है। परंतु उन्होंने मुखाग्नि देने के बाद उस व्यक्ति को तुरंत क्वारंटाइन सेंटर में वापस आने को कहा है। वैसे थानाध्यक्ष ब्रज किशोर सिंह ने बताया कि मृतक के परिजनों ने अब तक आवेदन नहीं दिया है।

Share This Post