जरूर पढ़ें

30 रुपए में सरकार बना रही है ये कार्ड, फ्री में हो जाएगा 5 लाख तक का इलाज

देश में फैले कोरोना वायरस (Corornavirus) पर रोक लगाने के लिए सरकार ने देशभर में 3 मई तक लॉकडाउन का ऐलान किया है. इस लॉकडाउन में सरकार की ओर से देश की गरीब जनता के लिए कई तरह की सुविधाएं मुहैया करा रही हैं. ऐसे में अगर आप कोरोना या फिर किसी और बीमारी के कारण परेशान हैं, लेकिन आपके पास इलाज कराने के लिए पैसे नहीं हैं तो आप बिल्कुल भी परेशान न हों. दरअसल, केंद्र सरकार देश की गरीब जनता को सिर्फ 30 रुपए में 5 लाख रुपए तक का इलाज कराने की सुविधा देती है. 

बनवाना होता है गोल्डन कार्ड
भारत सरकार की ओर से देश की गरीब जनता के लिए आयुष्मान भारत योजना को लॉन्च किया गया था. इस योजना के ग्राहकों को सरकार की ओर से आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड दिया जाता है, जिसके जरिए ग्राहक 5 लाख रुपए तक का इलाज करा सकते हैं. बता दें इस कार्ड को बनवाने के लिए ग्राहक को सिर्फ 30 रुपए खर्च करने होते हैं. 
 
कार्ड बनवाने का तरीका-

  • आपको आधिकारिक वेबसाइट mera.pmjay.gov.in पर जाना होगा.
  • इसके बाद में आपको एचएचडी कोड (HHD)चुनना होगा. 
  • इसके बाद में आपको इस कोड को कॉमन सर्विस सेंटर में आयुष्मान मित्र को देना होगा. 
  • आयुष्मान मित्र कॉमन सर्विस सेंटर आगे की प्रक्रिया पूरी करेंगे.
  • इसके बाद में आवेदक को 30 रुपए का भुगतान करना होगा. 

टोल फ्री नंबर से लें जानकारी
आप आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी हैं या नहीं इसके लिए आप 14555 हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकते हैं. इस नंबर पर कॉल करके आप आयुष्मान भारत योजना के बारे में पूरी जानकारी ले सकते हैं. इसके अलावा आप 24*7 इस 1800111565 टोल फ्री नंबर पर कॉल करके भी योजना के बारे में जान सकते हैं. 

इन लोगों को मिल सकता है योजना का फायदा

  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत 10 करोड़ से अधिक परिवारों को लाभ मिलेगा.
  • अपने मोबाइल नम्बर से लॉगिन कर पता करें आपका परिवार प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में सम्मिलित है या नहीं.
  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ लेने के लिए आपको कोई आवेदन करने की ज़रूरत नहीं है.
  • अगर आपका परिवार प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना लिस्ट में सम्मिलित है तो आप चिकित्सा उपचार के लिए किसी भी सूचिबद्ध अस्पताल में प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का लाभ उठा सकते हैं.

फ्री में मिलती है इलाज की सुविधा
अगर आपके पास ये गोल्डन कार्ड होगा तो आपको सरकारी अस्पताल में इलाज के दौरान कैश पेमेंट नहीं करना होगा. आप बिना कैश के ही अपना इलाज करा सकते हैं. इस कार्ड को बोलचाल की भाषा में ई-कार्ड या गोल्डन कार्ड भी कहा जाता है.

साल 2018 में हुई थी लॉन्च
आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत सितंबर 2018 में की गई थी. इस योजना में गरीबों को पांच लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त दिया जाता है. इसके तहत अब तक 70 लाख से ज्यादा लोगों का इलाज हुआ है. सरकार ने इलाज का खर्च वहन करते हुए 4500 करोड़ से ज्यादा की रकम का भुगतान भी अस्पतालों को किया है. सरकार की यह स्कीम गरीबों को ध्यान में रखकर बनाई गई है.

Share This Post