समस्तीपुर Town

राज्यों में फंसे प्रवासियों को लेकर आठ विशेष ट्रेनें शुक्रवार को पहुंचीं समस्तीपुर

समस्तीपुर। देश के अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासियों को लेकर आठ विशेष ट्रेनें शुक्रवार को समस्तीपुर पहुंचीं। इनमें से अधिकतर ट्रेनों से समस्तीपुर के प्रवासी यहां उतरे। इसमें सर्वाधिक दूरी से आने वाली ट्रेन रामेश्वरम व गाजियाबाद से ही आई। 04062 नंबर की ट्रेन जो गाजियाबाद से दरभंगा के लिए आई। उसके यहां पहुंचते ही काफी संख्या में प्रवासी उतरे। वैसे ट्रेनों के आगमन की शुरुआत 05130 जलालपुर से दरभंगा वाली ट्रेन से हुई। यह ट्रेन 5.34 बजे सुबह में प्लेटफार्म नंबर एक पर आई। फिर 06105 नंबर की ट्रेन सुबह सात बजे में रामेश्वरम से आई। इस ट्रेन को सुपौल तक की यात्रा करनी थी। इसके बाद 03214 दानापुर से 8.53 में आई और 9.39 बजे मधुबनी के लिए चली। एक और ट्रेन बरौनी से मधुबनी के लिए आई। यह 9.50 बजे यहां पहुंची और 10.10 में मधुबनी के लिए खुली। 06310 नंबर की ट्रेन भी दानापुर से दरभंगा के लिए 12.38 बजे आई। जो दिल्ली से दरभंगा जानेवाली थी। 4.30 बजे जलालपुर से सुपौल जाने वाली ट्रेन संख्या 05132 आई। इससे 100 प्रवासी उतरे तो 50 यात्री चढ़े भी। वहीं 4.40 बजे 09533 नंबर की ट्रेन मधुबनी से किशनगंज जाने के लिए आई। इससे 60 यात्री उतरे तो 200 यात्री चढ़े भी। सभी ट्रेनों से काफी संख्या में प्रवासी उतरे। 05128 जलालपुर से सुपौल उतरा 100, च़ढ़े 100 भी। दानापुर व जलालपुर से दो ट्रेनें आईं

लॉकडाउन के कारण देश के अलग-अलग हिस्से से पैदल ही चले प्रवासियों को उत्तर प्रदेश व बिहार की सीमा पर गोपालगंज व सिवान में रोका गया था। जलापुर स्टेशन व दानापुर स्टेशन से इन सभी को स्पेशल ट्रेन से यहां लाया जा रहा है। शुक्रवार को जलालपुर, दानापुर, बरौनी आदि जगहों से ट्रेनों का परिचालन किया गया। वहीं, दानापुर से दो ट्रेनें का परिचालन किया गया। इसमें से एक मधुबनी के लिए तो दूसरी दरभंगा के लिए चली। सभी प्रवासियों के चेहरे पर अपने घर लौटने की खुशी साफ दिखाई दे रही थी। इसमें वैसे प्रवासी भी शामिल रहे जो ईद के मौके पर अपने घर की ओर लौटना चाह रहे थे। इनके चेहरे पर सकुन के भाव थे। कम से कम करोना संकट के बीच वे ईद के मौके पर अपने घर तो पहुंच गए। चौकसी के बीच रेलवे के फूड पैकेट को लेकर बवाल

पूरे स्टेशन परिसर की आज चौकस रही। सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद थी। आने-जाने वाले मार्ग को पूरी तरह बैरिकेड कर दिया गया था। स्टेशन पर काउंटर बनाये गए थे। दो ओर से प्रवासियों को बाहर निकालने की व्यवस्था की गई थी। सभी प्रवासी पहले से ही सूचीबद्ध थे। इस कारण गिनती के बाद सभी गंतव्य तक जाने के लिए बस पर बैठे। इस बीच रेलवे की ओर से बांटे जा रहे बंद, बिस्किट से भरे पैकेट को लेकर स्टेशन पर प्रवासियों के बीच अफरातफरी मच गई। वितरित कर रहे डीसीआइ ने किसी तरह इसपर काबू पाया।

ट्रेन से पहुंचे प्रवासी हुए खुश

परेशानी के बीच समस्तीपुर में स्पेशल ट्रेन से पहुंचे प्रवासियों ने बताया कि अब वो काफी खुश हैं। लॉकडाउन में उन्हें बहुत परेशानी हो रही थी, खाने-पीने के साथ-साथ रहने में भी काफी दिक्कतें हो रही थीं। ऐसे में सरकार ने देर से ही सही पर हमलोगों को अपने घर बुलाने में सराहनीय कार्य किया। हां दिक्कत तो हुई लेकिन कोई बात नहीं।

Share This Post