जरूर पढ़ें

Cyclone Nisarga LIVE Update: आज जमीन से टकराएगा चक्रवात ‘निसर्ग’, जानें मौसम विभाग की ताजा भविष्याणी

भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अनुसार अरब सागर में हवा के दबाव में परिवर्तन होने से बने चक्रवात ‘निसर्ग’ के आज मुंबई से करीब 94 किमी की दूरी पर स्थित महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के बीच हरिहरेश्वर व दमन के नजदीक अलीबाग के पास टकराने की संभावना है। यह तूफान बड़े पैमाने पर तबाही मचा सकता है। मौसम विभाग की ताजा भविष्याणी के मुताबिक निसर्ग पिछले 6 घंटों के दौरान 13 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तरी महाराष्ट्र तट की ओर बढ़ा। यह अलीबाग से 155 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और मुंबई से 200 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में केंद्रीत है। 

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार मौसम विभाग के अनुसार अगले कुछ घंटों मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों में बारिश के आसार हैं। विभाग के अनुसार तटीय कर्नाटक और मराठावाड़ा में भी बारिश के अनुमान हैं। इसके अलावा अगले 24 घंटों में मुंबई समेत महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में भारी बारिश के आसार हैं। 

मुंबई और महानगरीय क्षेत्रों में बारिश

लैंडफॉल से पहले महाराष्ट्र के मुंबई और महानगरीय क्षेत्रों में मंगलवार शाम से बारिश शुरू हो गई। समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार यह रात में और तेज हो गई। 

महाराष्ट्र और गुजरात में आपदा प्रतिक्रिया तंत्र सक्रिय

महाराष्ट्र और गुजरात ने अपने आपदा प्रतिक्रिया तंत्र को सक्रिय कर दिया है। दोनों राज्यों में एनडीआरएफ की टीमें  तैनात हैं  और प्रभावित होने वाले संभावित इलाकों से लोगों को बाहर निकाला जा रहा है। बता दें कि दोनों पश्चिमी राज्य, पहले से ही कोरोना महामारी से जूझ रहे हैं, जिसने उनके स्वास्थ्य व्यवस्था को गंभीर तनाव में डाल दिया है।

लोगों की सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था

महाराष्ट्र समेत गुजरात, केंद्र शासित प्रदेश दमन व दीयू और दादर नगर हवेली में लोगों की सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को महाराष्ट्र, गुजरात, दमन दीव, दादरा और नगर हवेली को सभी सहायता का आश्वासन दिया। 

भारी वर्षा होने की संभावना

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के पालघर, पुणे, ठाणे, मुंबई, रायगढ़, धुले, नंदुरबार और नासिक में भारी वर्षा होने की संभावना है। विभाग ने मछुआरों को अगले 48 घंटों के दौरान दक्षिण-पूर्व अरब सागर, लक्षद्वीप क्षेत्र और केरल तट के आस-पास नहीं जाने की सलाह दी है।

Share This Post