समस्तीपुर Town

ताजपुर रोड की गलियों में आय दिन मर रहे गाय के बछड़े, लोग लगा रहे तस्करी की आशंका

समस्तीपुर: भारत में गोमांस और गाय की तस्करी पर पूरी तरह बैन है. लेकिन क्या इस कानून का पालन हो रहा है? अभी के हालातों को देखते हुए लोगों का कहना है की बिहार के समस्तीपुर में इस कानून का कोई पालन नहीं हो रहा है. शहर के ताजपुर रोड, काशीपुर, नगर परिषद वार्ड -4 ,8 ,11 एवं काशीपुर में आने वाले पॉश इलाकों में आय दिन मरे हुए गाय का शव मिल रहा है. इसकी जानकारी नगर परिषद् के कर्मचारियों ने दी. नगर परिषद् के कर्मचारियों का कहना है की शहर के काशीपुर छेत्र में आने वाले अलग अलग वार्डों में मरने वाली गायों की संख्या पिछले दिनों के मुकाबले इस 10 दिनों में अचानक बढ़ गयी है जिसकी वजह से नगर परिषद् के कर्मचारियों को गाय के शव को जल्दी हटाने के लिये कभी-कभी जनता के आक्रोश का भी सामना भी करना परता है.

स्थानीय लोगों ने बताया की पहले भी धरमपुर के कुछ तस्कर गाय के बछड़े को इन इलाकों में छोर जाते थे और बाद में एक एक कर बेरहमी से उन्हें घसीट कर ले जाया जाता था, जिसका विरोध बिते वर्षों में बहोत से लोगों ने कीया. लोगों का यह भी कहना है की पिछले दो वर्षों में हुए विरोध के कारण ऐसी घटनाएं बिलकुल ख़तम हो गयी थी लेकिन पिछले दो तीन हफ़्तों में फिर इसमें काफी इजाफा हुआ है और लोगों के बिच आक्रोश भी बढ़ता जा रहा है.

स्थानीय लोगों ने बताया की गाय के बछड़े को कुछ लोग छोर जाते हैं और बाद में ये गाय भूख से दम तोर देती है जिससे आम लोगों और खासकर वहां रहने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना परता है और वो लोग नगर परिषद् से फिर गाय हटाने के लिए संपर्क करते हैं. मिले जानकारी के अनुसार प्रसाशन इस और कोई ध्यान नहीं देती है. गुप्त सूत्रों की माने तो ये एक बहोत बरी तस्करी है गाय के बछड़ों की जिसमे शहर के एक मुख्य नेता की भी संलिप्तता नजर आ रही है जिस वजह से प्रसाशन का ध्यान इस ओर नहीं जा रहा है.

Share This Post