बिहार

कोरोना अपडेट : बिहार में 53 कोरोना संक्रमित मरीज मिले, राज्य कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 932

कोरोना लॉकडाउन 3 के दौरान बिहार में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा तेजी से बढ़ा है। मधुबनी, पटना, कैमूर, भोजपुर, बांका सीवान और मुजफ्फरपुर में मिले 24 नये मरीजों के साथ बुधवार की शाम तक 52 मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। वहीं बिहार में बुधवार को अब तक कोविड-19 संक्रमित कुल मरीजों का आंकड़ा 908 से बढ़कर 932 तक पहुंच गया है।

बुधवार की शाम को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने अपने दूसरे कोरोना अपडेट में बताया कि मधुबनी में 1, पटना में 4, कैमूर में 1, भोजपुर 7, बांका में 4, सीवान में 4 और मुजफ्फरपुर में 3 मरीज मिलाकर कुल 24 कोविड-19 का केस सामने आया है। इन मरीजों में दो महिला पटना की और एक सीवान की रहने वाली हैं वहीं बाकि 21 पुरूष हैं। पटना में एक बीस साल का बच्चा भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।


इससे पहले बक्सर में मिले 3 नये कोरोना पॉजिटिव मरीजों के साथ बिहार में 7 जिलों में कोरोना के 29 मरीजों के मिलने की पुष्टि हुई थी। बिहार के सभी 38 जिले अब कोरोना संक्रमण से प्रभावित हो चुके हैं। बिहार में अब तक  कोरोना वायरस से संक्रमित 390 मरीज ठीक हो चुके हैं। तो वहीं एक और कोरोना संक्रमित पेशेंट ने दम तोड़ दिया। कोविड-19 से मौत का आंकड़ा बिहार में बढ़कर 7 हो गया है।

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि ये सभी मरीज हाल ही में गुजरात, दिल्ली, महाराष्ट्र, बंगलुरु, केरल समेत अन्य राज्यों से लौट कर आये थे। कोरोना टेस्ट के बाद इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 

उधर बिहार के प्रधान सचिव ने बुधवार को अपने पहले कोरोना अपडेट में 29 मरीजों के मिलने की पुष्टि करते हुए बताया था कि बक्सर के 3, नवादा के 9 , बेगूसराय के 3, गोपालगंज के 2, रोहतास के 3, खगड़िया के 3 और भागलपुर के 6 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनमें बेगूसराय की एक 50 साल की महिला पेशेंट भी है बाकि सभी 18 से लेकर 60 साल तक के पुरूष पेशेंट हैं।

बिहार में कोरोना संक्रमण से सातवीं मौत
बिहार में कोरोना संक्रमित पेशेंटकी मौत हो गई। इसके साथ ही प्रदेश में कोरोना से मौत होने का आंकड़ा बढ़कर सात तक पहुंच गया है। कोरोना संक्रमित सातवीं मौत पटना शहर स्थित एनएमसीएच में भर्ती 56 वर्षीय महिला की की हुई है। पटना के आलमगंज थाना क्षेत्र निवासी महिला गॉल ब्लाडर के कैंसर से पीड़ित थीं और इलाज के दौरान अस्पताल आने जाने के दौरान वह संक्रमित हुई थीं। दस मई को संक्रमित महिला को एनएमसीएच में भर्ती कराया गया था। बिहार में सबसे पहले मुंगेर निवासी सैफ अली की मौत पटना में इलाज के दौरान एम्स में हुई थी। अब तक मुंगेर, रोहतास, पूर्वी चंपारण, वैशाली एवं सीतामढ़ी के एक-एक कोरोना संक्रमित पेशेंट और महिला मिलाकर पटना में अब तक दो मरीजों की जान जा चुकी है। 

बिहार के अब सभी 38 जिले कोरोना संक्रमित
बिहार में अब तक एक दिन में सबसे अधिक मरीज मंगलवार को मिले थे। मंगलवार की देर रात तक 130 मरीजों की पुष्टि की गई थी। वहीं अबतक कोरोनावायरस के संक्रमण से बचा सूबे का एकमात्र जिला जमुई भी अब कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गया है। मंगलवार की देर रात जमुई में कोरोना से संक्रमित एक मरीज के होने की पुष्टि की गई है। यह युवक मुंबई से जमुई आया था। 

मुंबई से जमुई पहुंचे एक 20 वर्षीय युवक के कोरोना संक्रमण होने की पुष्टि बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर डीएम धर्मेंद्र कुमार ने की है। अब तक सुबह के 38 जिलों में मात्र जमुई एक ऐसा जिला था जहां कोरोना संक्रमण का एक भी रोगी नहीं मिला था। डीएम धर्मेंद्र कुमार ने समाहरणालय स्थित अपने कार्यालय प्रकोष्ठ में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि जमुई जिले के खैरा प्रखंड अंतर्गत एक गांव का युवक कोरोना जांच में पॉजिटिव पाया गया है। खैरा प्रखंड का एक 20 वर्षीय युवक मुंबई में ऑटो रिक्शा का परिचालन करता था। कोरोना वायरस से सम्बंधित लॉक डाउन के बाद वह अपने 10 अन्य साथियों के साथ सड़क मार्ग से विभिन्न होटल और ढाबों पर रुकते हुए रविवार को अपने गांव पहुंचा था।  

Share This Post