बिहार

बिहार विधान परिषद चुनाव: सोशल डिस्टेंसिंग के साथ राजद के तीनों उम्मीदवारों ने भरा पर्चा

बिहार विधान परिषद के लिए विधानसभा क्षेत्र की 9 सीटों पर हो रहे चुनाव के लिए बुधवार को मुख्य विपक्षी दल राजद के तीन प्रत्याशियों ने अपने नामांकन पत्र दाखिल किये। बिहार विधानसभा के सचिव तथा इस चुनाव के निर्वाचन पदाधिकारी बखेश्वरनाथ पांडेय के समक्ष राजद प्रत्याशी मोहम्मद फारुख, सुनील कुमार सिंह तथा प्रो. रामबली सिंह ने दो-दो सेटों में अपना-अपना पर्चा दाखिल किया।                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                 
कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए बिहार विधानसभा सचिवालय में आहूत इस नामांकन कार्यक्रम में सामाजिक दूरी का पूरी तरह ख्याल रखा गया। करीब 12.05 मिनट पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, राजद विधायक अब्दुलवारी सिद्दीकी, ललित यादव, भोला यादव, भाई वीरेन्द्र निर्वाची पदाधिकारी के कक्ष में पहुंचे।

उसके बाद पहले व्यावसायी मो. फारुख, फिर बिस्कोमान के चेयरमैन सुनील कुमार सिंह और सबसे अंत में प्रो. रामबली सिंह बारी- बारी से पर्चा दाखिल करने सचिव कक्ष में पहुंचे। एक का नामांकन समाप्त होने पर उनके बाहर निकलने पर ही दूसरे कक्ष में आए। मौके पर सहायक निर्वाची पदाधिकारी भूषण झा भी मौजूद रहे।  

गौरतलब है कि बिहार विधान परिषद की नौ सीटों के लिए हो रहे चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि 25 जून है। नामांकन पत्रों की जांच 26 जून को की जाएगी, वहीं नाम वापस लेने की अंतिम तिथि व समय 29 जून को अपराह्न 3 बजे तक है। अगर, सीट के बराबर ही प्रत्याशी पर्चा दाखिक करते हैं तो 29 को ही उनके निर्वाचित होने की घोषणा कर दी जाएगी। आवश्यकता पड़ने पर मतदान की तिथि 6 जुलाई की तय है।  

सम्राट चौधरी और संजय मयूख हुए भाजपा के विधान पार्षद उम्मीदवार

विधान परिषद की दो सीटों के लिए भाजपा ने अपने दो उम्मीदवारों, सम्राट सिंह और संजय प्रकाश, के नामों की घोषणा कर दी है। वैसे विधान परिषद की दो सीटों के लिए भाजपा में दावेदारों की लंबी कतार थी। दो दर्जन से अधिक लोग अपनी दावेदारी जता रहे थे, जिसमें से आधा दर्जन अपने आप को उपयुक्त और गंभीर दावेदार का भी दावा कर रहे थे।

Share This Post