बिहार

मई के अंत तक आ सकता है मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट, आज से फिर शुरू हो रहा मूल्यांकन

लंबे इंतजार के बाद आखिरकार बिहार विद्यालय परीक्षा समितिने मैट्रिक परीक्षा का मूल्यांकन शुरू करने का फैसला ले लिया है.  सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के सभी उपायों को ध्यान में रखकर बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाएं आज से ही चेक की जानी है. माना जा रहा है कि बोर्ड के इस फैसले के बाद मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट मई के अंत तक आ सकता है. बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोरने कहा, ‘सोशल डिस्टेंसिंग को लागू कर कोविड – 19 के बचाव से संबंधित सभी सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए मैट्रिक 2020 परीक्षा की शेष उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य शुरू किया जा रहा है.

आला अधिकारियों संग मीटिंग में लिया निर्णयबता दें कि 17 मई तक के लिए घोषित देशव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर बिहार बोर्ड इस उधेड़बुन में था कि क्या किया जाय. इसको लेकर सोमवार को बोर्ड के चेयरमैन आनंद किशोर ने वरीय अधिकारियों के साथ गहन विचार-विमर्श किया और अंत में छह मई से मूल्यांकन कार्य आरंभ करने का निर्णय लिया था.

कई बार बढ़ चुकी है कॉपी जांच की तारीख

बता दें कि बिहार बोर्ड के मैट्रिक की कॉपियों का मूल्यांकन 7 मार्च से शुरू हुआ था और 25 मार्च इसे पूरा किया जाना था. लेकिन, पहले शिक्षकों की हड़ताल और फिर लॉकडाउन के कारण कॉपियां जांचने की तारीख 31 मार्च तक बढ़ायी गयी थी.
इसके बाद 31 मार्च को बिहार बोर्ड ने आदेश जारी करके 14 अप्रैल तक के लिए कॉपियां का मूल्यांकन स्थगित कर दिया था. इसके बाद इसे बढ़ाकर 3 मई तक स्थगित कर दिया गया था.

पिछले वर्ष समय से पहले आया था रिजल्ट
गौरतलब है कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने पिछले साल 6 अप्रैल को मैट्रिक के परिणाम घोषित कर दिया था जबकि, बिहार बोर्ड इंटर परीक्षा 2020 के परिणाम इस बार भी समय से पूर्व ही घोषित किये जा चुके हैं.
बता दें कि मैट्रिक परीक्षा का 75 प्रतिशत मूल्यांकन कार्य पूरा हो चुका है. अब जब फिर से मूल्यांकन कार्य शुरू हो रहा है तो उम्मीद की जा रही है कि मई के अंत तक परीक्षा परिणाम भी आ जाएगा. हालांकि बोर्ड की ओर से अभी तक कोई तिथि घोषित नहीं की गई है.

Share This Post