समस्तीपुर Town

Samastipur: बागमती ने खतरे के निशान को किया पार, बूढ़ी गंडक भी उफनाई

समस्तीपुर । जिले में विभिन्न नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। बागमती नदी खतरे के निशान के पास है। इसके कारण बागमती नदी से सटे निचले इलाके में बाढ़ का खतरा है। बूढ़ी गंडक खतरे के निशान से महज 38 सेमी नीचे है तो गंगा खतरे के निशान से 85 सेमी नीचे। वहीं बागमती खतरे के निशान से 1.50 सेमी उपर बह रही है। कहा कि कल्याणपुर के तीन पंचायत कलौैंजर, नामापुर और तीरा बाढ़ प्रभावित है। वहीं हसनपुर प्रखंड का घटबन और बिथान की चार पंचायत के निचले इलाके बाढ़ प्रभावित हैं।लेकिन आबादी निष्क्रमण की स्थिति में नहीं है। यह जानकारी अपर समाहर्ता विनय कुमार और आपदा पदाधिकारी राजीव रंजन ने दी। बताया कि कल्याणपुर में एसडीआरफ की टीम व छह नाव को राहत कार्य में लगाया गया है। सिघिया में एक एसडीआरफ की टीम व मेडिकल की टीम को एक्टिव किया गया है। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य की तैयारी पूरी कर ली गई है। आवश्यकतानुसार जरूरतों को पूरा किया जा रहा है। ——————————— नदियों का जलस्तर – बूढ़ी गंडक समस्तीपुर रेल पुल : उच्चतम जलस्तर : 48.83, खतरे का जलस्तर : 45.73, वर्तमान जलस्तर : 45.45 – बूढ़ी गंडक रोसड़ा रेल पुल : उच्चतम जलस्तर : 46.35, खतरे का जलस्तर : 42.63, वर्तमान जलस्तर : 42.96 – गंगा नदी, सरारी घाट, मोहनपुर : उच्चतम जलस्तर : 48.50, खतरे का जलस्तर : 45.50, वर्तमान जलस्तर : 44.65 – बागमती नदी, हायाघाट: उच्चतम जलस्तर : 48.98, खतरे का जलस्तर : 45.75, वर्तमान जलस्तर : 46.02

Share This Post