जरूर पढ़ें

सिक्किम सेक्टर में चीनी सैनिकों के साथ झड़प पर सेना का बयान, कहा- लंबे समय बाद हुई ऐसी घटना

भारत-चीन सीमा से लगने वाले सिक्किम सेक्टर के नाकू ला के पास शनिवार सुबह भारत और चीन के सैनिकों के बीच तीखी झड़प हो गई. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस घटना में कई सैनिकों को मामूली चोट भी आई है. उन्होंने बताया कि स्थानीय स्तर पर बातचीत के बाद सैनिक अलग हो गए. समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक, एक सूत्र ने बताया कि सैनिक निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुरूप परस्पर समझ से ऐसे मामलों को सुलझा लेते हैं. इस तरह की घटना काफी समय बाद हुई है. बता दें कि उत्तरी सिक्किम के नाकु ला सेक्टर में भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प हुई थी.

सूत्रों के मुताबिक, इस घटना में सात चीनी सैनिक जबकि चार भारतीय सैनिक घायल हुए थे. बाउंड्री विवाद नहीं सुलझने की वजह से यहां आए दिनों तनाव की स्थिति पैदा हो जाती है. पहले भी कई बार ऐसा तनाव देखने को मिला है, जिसे बातचीत के जरिए सुलझाया गया है. गौरतलब है कि चीन जम्मू-कश्मीर पर टिप्पणी करते हुए भी बाज नहीं आ रहा है. अभी हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में चीन के स्थायी मिशन के प्रवक्ता की ओर से जम्मू कश्मीर पर टिप्पणी की गई, जिसे भारत ने खारिज कर दिया था.

इसके अलावा चीनी सेना लगातार लद्दाख से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक सीमा पर हिमाकत करती रहती है. डोकलाम गतिरोध भी दोनों देशों के बीच लंबे समय तक चला था. अब एक बार फिर दोनों सेनाओं के बीच तनाव की बात सामने आयी है. आपको बता दें कि 2017 में सिक्किम-भूटान-तिब्बत सीमा पर डोकलाम में भी दोनों देशों के बीच काफी दिनों तक तनातनी रही थी. और 73 दिनों एक दूसरे के सामने टिके रहने के बाद सैनिक वहां से हटे थे.

रहा है पुराना सीमा विवाद

भारत का चीन के साथ सीमा विवाद लंबे समय से चला आ रहा है. भारत और चीन के बीच चार हजार किलोमीटर से अधिक लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) तीन सेक्टरों पूर्वी, मध्य और पश्चिमी सेक्टर में बंटी है. पूर्वी सेक्टर में अरुणाचल प्रदेश का इलाका पड़ता है जिसके 90 हजार वर्ग किलोमीटर इलाके पर चीन अपना कब्जा बताता है. मध्य सेक्टर में उत्तराखंड, हिमाचल और सिक्किम हैं. इस इलाके में भी उत्तराखंड के बाराहुती क्षेत्र पर चीन दावा बताता है. पश्चिमी सेक्टर में लद्दाख और अक्साई चिन का इलाका है.

Share This Post