समस्तीपुर Town

समस्तीपुर : पापा लोगों की बात मत सुनिए, कोई कुछ कहे.. यहां ऑल इज वेल है

समस्तीपुर । .. पापा? लोगों की बात मत सुनिए, कोई कुछ कहे.. यहां ऑल इज वेल है। अमन के पिता सुधीर सिंह बताते हैं कि अंतिम बार उससे 12 मई को फोन पर बात हुई थी। बॉर्डर एरिया में तैनाती होने के कारण बातचीत में दिक्कत होती थी। उन्होंने कहा कि बातचीत के दौरान सिर्फ यही पूछा कि कैसे हैं पापा? ये शब्द बोलते-बोलते वे फफक पड़ते हैं। खड़ा होने की कोशिश करते हैं, पर उनके पैर लड़खड़ाने लगते हैं। आसपास मौजूद लोग उन्हें संभालते हैं।

सुधीर सिंह बताते हैं कि मैंने जब हाल चाल पूछा तो कहा था कि यहां सब कुछ ठीक है। सब शांति है। अमन ने कहा था, मेरी चिता मत करिए

सुधीर सिंह ने बेटे को टीवी चैनलों पर चल रही खबर और लोगों की बात पर चिता जताई थी। उन्होंने कहा कि चीन बॉर्डर पर तनाव की बात चल रही। इस पर अमन ने कहा था कि ऐसा कुछ नहीं है। लोगों की बात मत सुनिए। यहां तो ऑल इज वेल है। आप अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दें, मेरी चिता मत करिए। उसकी बातों से मन को शांति मिली। लेकिन, एक सप्ताह में सबकुछ खत्म हो गया। जुलाई में आने का किया था वादा

अमन के पिता बताते हैं कि लद्दाख एरिया में होने के कारण सात दिन में एक दिन ही बात होती थी। जिस दिन बात हुई थी, उसी दिन बताया था कि पापा मैं जुलाई में आऊंगा। फिर आपको इलाज के लिए दिल्ली ले चलूंगा। पूर्व में भी जब वह छुट्टी पर आया था तो अपने साथ ले जाकर इलाज कराया था। गांव के स्कूल में ली थी प्रारंभिक शिक्षा

अमन ने गांव में ही प्रारंभिक शिक्षा ली थी। इंटर पास अमन कुमार सिंह अपने दोस्तों में काफी लोकप्रिय थे। गांव से जुड़ीं कई यादें लोगों के जेहन में हैं। मध्य विद्यालय, सुलतानपुर से प्राथमिक स्तर से पढाई शुरू करनेवाला अमन मैट्रिक की परीक्षा भी अपने गांव के मध्य विद्यालय व इंटर जेटीए महाविद्यालय, सुलतानपुर बलुआही से दी। गौरतलब है कि यह गांव पूर्व शिक्षा राज्यमंत्री अनुग्रह बाबू का है।

Share This Post